आज रंग बरसाने, बरसाने आयो नटवर नंद किशोर (रसिया)

आज रंग बरसाने, बरसाने आयो नटवर नंद किशोर(रसिया)

आज रंग बरसाने बरसाने, आयो नटवर नंदकिशोर।
नटवर नंद किशोर किशनीयां, रस-लम्पट रसभौर॥

ग्वाल बाल का लेकर टोला।
रंग रंगों का भर कर झोला॥
हल्ला-गुल्ला कर कर सजनी,
खूब मचायो शोर-आज...

गोपिन छीन लियो पिचकारी।
नर से आज बनायो नारी॥
मुंह छुपाता फिरे सांवरा,
जैसे भागत चोर - आज...

घुघट में कान्‍हां शरमावे ।
छोड़ो छोड़ो तरले पावे॥
“मधुप” हरि को आज नचायो,
जैसे नाचत मोर-आज...
download bhajan lyrics (169 downloads)