कौन श्याम खोजे तू ऐ बावरिया

त्रेता के श्री राम चन्द्र जी द्वापर में घण्यशयम,
नारायण अवतारी दोनो। दोनो के रंग श्याम ।
किस अवतारी श्याम को खोजे बोल री प्यारी अंखिया।
राम श्याम है श्याम राम है एक रूप दो अखियां।

कौन श्याम खोजे तू ऐ बावरिया।
ऐ बावरिया, ऐ बावरिया

एक श्याम दसरथ के ललना,
एक बने कृष्ण कन्हैया।

एक श्याम धनु भांजे जनक पुर।
एक बने नाग नथिया ।

एक श्याम लंका पति तारे।
एक बने कंस मड़ैया।

एक श्याम बन में मृग मारे,
एक बने रास रचैया।

कवि दिनेश कहे श्याम सुंदर
दो नैनन विच वसैया।
श्रेणी
download bhajan lyrics (123 downloads)