चुनरी मैया दी भक्ता लालो लाल

चुनरी मैया दी भक्ता लालो लाल कर दी ए छावा ठंडियां,
झोली भर दी सुखा दे नाल चुनरी मैया दी भक्ता लालो लाल.....

सतरंगी इस चुनरी उत्ते जड़े ने चन्न सितारे,
देवी देवता इस दे आगे शीश झुकांदे,
पला विच देवे भक्तों ऐह तां सब दी विपदा टाल,
चुनरी मैया दी भक्ता लालो लाल कर दी ए छावा ठंडियां,
झोली भर दी सुखा दे नाल चुनरी मैया दी भक्ता लालो लाल.....

ए चुनरी अर्शा तो आई शान है बड़ी निराली,
भागा वालीया नु है मिलदी इस चुनरी दी लाली,
भेद बड़े चुनरी दे एह ता चुनरी बड़ी है कमाल,  
चुनरी मैया दी भक्ता लालो लाल कर दी ए छावा ठंडियां,
झोली भर दी सुखा दे नाल चुनरी मैया दी भक्ता लालो लाल.....

मां दी इस चुनरी दिया मैं ता कि की इशिता दसां,
माँ दे भक्तों इस चुनरी नू तक तक रजदियां अखाँ,
जिनां ने वी लई सिर ते ओह ते गए निहाल,
चुनरी मैया दी भक्ता लालो लाल कर दी ए छावा ठंडियां,
झोली भर दी सुखा दे नाल चुनरी मैया दी भक्ता लालो लाल.....
download bhajan lyrics (17 downloads)