जय माता दी कहन्दा कहन्दा तेरे दर तक आया

जय माता दी कहन्दा कहन्दा तेरे दर तक आया,
ना पल्ले गुण कोई मेरे मैं ता औगण लै के आया,
दुनिया मंगे लख करोड़ा ओ मैनु मिल जाये तेरी छाया,
मैनु मिल जाये तेरी छाया....

हुण लग्न लगी की करिए,
हर पल तेरा नाम सिमरिए,
तेरे ध्यान दे विच मन वसेया रवे,
कोई होर ध्यान ना धरीए,
हुण लग्न लगी की करिए....

बड़ीयां उड़ीका बाद मैया जी तेरा बुलावा आया,
लख लख शुक्र तेरा जो मैनु अपनी चरणी लाया,
दयो सहारा माँ जगदम्बे,
देयो सहारा माँ जगदम्बे था-था असी ना रुलिये,
हुण लग्न लगी की करिए...

दर तेरे नु छड्ड के मैया होर केड़े दर जावां,
जे तू ही ना सुने ते दिल दा हाल मैं किस नु सुनावा,
दर-दर रुलेया मैया दस हुण,
दर-दर रुलेया मैया दस हुण केड़ा पल्ला फड़ीए,
हुण लग्न लगी की करिए....

जो भी मिलेया रहमत तेरी मैं कुछ होर ना मंगा,
तन-मन अपना दाती तेरे नाम दे रंग विच रंगा,
जे तू मेहर करे ते मायें,
जे तू मेहर करे ते मायें भवसागर विचो तरीए,
हुण लग्न लगी की करिए.....
download bhajan lyrics (12 downloads)